Header Ads Widget

Responsive Advertisement

पुरानी रंजिश व बदनाम करने को लेकर कुल्हाडी से मारकर की थी हत्या

अनूपपुर
वेंकटनगर चौकी अंतर्गत ग्राम पोंडी में 19 अप्रैल को हुई पति-पत्नी की हत्या के मामले में पुलिस 21 अप्रैल को खुलासा करते हुए हत्या के दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। जहां पूरे मामले की जानकारी देते हुए पुलिस ने बताया झम्मा बैगा पति पडरू बैगा का शव घर के बाहर खून से लथपथ पड़े होने की सूचना मिलते ही मौके पर घटना स्थल पर पहुंच कर शव का निरीक्षण किया, जहां पर आसपास के लोगो ने 18 अप्रैल की शाम लगभग 7.30 बजे पडरू बैगा व उसकी पत्नी झम्मा बैगा के बीच विवाद होते हुए सुना था, जिनके बीच लाल सिंह ने बीच बचाव करने की बात भी पुलिस से कही थी, जिस पर पुलिस ने लाल सिंह पर संदेह होते हुए उसे पकडते हुए थाने ले आई जहां सख्ती के साथ पूछताछ की गई, जिस पर उसने अपना जुर्म कबूल करते हुए अपने भाई के साथ मिलकर हत्या करना स्वीकार किया।
पुरानी दुश्मनी को लेकर की थी हत्या
पुलिस द्वारा सख्ती के साथ की गई पूछताछ पर आरोपी लाल सिंह ने अपना जुर्म कबूल करते हुए अपने छोटे भाई गंगा सिंह के साथ कुल्हाडी से वार कर दोनो पति-पत्नी की हत्या कर देना बताया। उसने बताया कि पडरू बैगा अपनी पत्नी का अवैध संबंध मेरे साथ होने की बात कर मुझे बदनाम कर दिया था जिसके बाद से मैने अपने घर के पास स्थित कुएं से उन्हे पानी भरने को मना कर दिया जिसके बाद से विवाद शुरू हो गया था। 18 अप्रैल की शाम को मृतिका झम्मा बैगा मेरे घर के सामने स्थित हैण्डपंप में नहाने आई थी, जहां उसके पति पडरू बैगा उसे काफी समय लग जाने पर उसे गाली देता हुआ वहां पहुंच गया। जहां मै और मेरे भाई ने पुरानी रंजिश को लेकर गुस्से में आते हुए उसके सर पर कुल्हाडी से वार कर दिया था।
बीच बचाव करने पर पत्नी को भी उतारा मौत के घाट
पूरे मामले में जहां पडरू बैगा द्वारा गाली गलौज करते हुए मेरे घर के पास पहुंचा जहां मै और मेरा छोटा भाई गंगा सिंह वहीं पर थे, तथा पुरानी रंजिश व पडरू बैगा द्वारा बदनाम किए जाने को लेकर पडरू बैगा के साथ मारपीट करने लगे, जहां पर हैण्डपंप पर नहा रही पडरू बैगा की पत्नी झम्मा बैगा वहां आकर बीच बचाव करने लगी, जिसके बाद दोनो पर कुल्हाडी से वार करते हुए उन्हे घायल कर दिए और दोनो ही वहां बेहोश हो गए। जिसके बाद हैण्डपंप के पास ही झम्मा बैगा की मौत हो गई तथा पडरू बैगा घायल अवस्था में उठकर अपने घर की तरफ चला गया था।
पुलिस से बचने पति पर ही पत्नी की हत्या का लगाया था आरोप
पूरे मामले में आरोपी लाल सिंह ने बताया की पडरू बैगा द्वारा अपनी पत्नी व मेरे अवैध संबंध होने की बात कह पूरे गांव में मुझे बदनाम किया था, वहीं घटना के दिन मुझे लगा की आसपास के लोगो ने मुझे भी वहां पर देखा है जिसके बाद अपने आप को बचाने के लिए मैने पति-पत्नी के बीच हुए विवाद पर बीच बचाव की जानकारी देते हुए पडरू बैगा पर ही अपनी पत्नी की हत्या करना का झूठा आरोप लगा दिया था।
     दोनों आरोपियों को पुलिस ने पकड़ा
लाल सिंह द्वारा अपने छोटे भाई गंगा सिंह के साथ मिलकर दोनो ही पति-पत्नी की हत्या करना स्वीकार करने के बाद पुलिस ने लाल सिंह के घर से हत्या में प्रयुक्त की गई कुल्हाडी को जब्त करते हुए दोनो ही आरोपी लाल सिंह पिता सुखलाल सिंह उम्र 32 वर्ष एवं गंगा सिंह पिता सुखलाल सिंह उम्र 30 वर्ष को 21 अप्रैल को गिरफ्तार करते हुए उनके खिलाफ धारा 302, 34 के तहत मामला पंजीबद्ध किया है। वहीं इस पूरे मामले में पति-पत्नी की हत्या का खुलासा करने में जैतहरी थाना प्रभारी रवि शंकर शुक्ला, उप निरीक्षक हरिशंकर शुक्ला, आकांक्षा सिंह, सहायक उप निरीक्षक विरेन्द्र तिवारी एवं प्रधान आरक्षक सुरेश कोरी ने दोनो आरोपियों को पकडते हुए हत्या की गुत्थी सुलझाने में सरहनीय प्रयास किया है।

Post a Comment

0 Comments