Header Ads Widget

Responsive Advertisement

एसईसीएल की मशीन से सेनेटाईजेशन कर रहे विधायक पर उठे सवाल

कलेक्टर ने मशीन वापस लेने एसडीएम को दिये निर्देश
अनूपपुर - 10 अप्रैल
 कोरोना संक्रमण का संकटकाल देश / समाज में प्रत्येक जिम्मेदार वर्ग की परीक्षा का समय भी है। जनता द्वारा निर्वाचित जनप्रतिनिधियों का दायित्व इसलिए अधिक है क्योंकि जनता ने अपना अमूल्य मत दे कर उन्हे अपना प्रतिनिधि चुना है।  अनूपपुर जिले में लाक डाऊन के दौरान सहयोग के उत्साह में कुछ ऐसे कार्य किये जा रहे हैं ,जिससे सहयोग - सेवा के उद्देश्य पर बडे गंभीर सवाल उठ खडे हुए हैं।
    कोतमा विधायक सुनील सराफ द्वारा बिजुरी में एस ई सी एल द्वारा प्रदत्त मशीन से ना केवल स्वत: सेनेटाईजेशन का कार्य किया गया अपितु म प्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर भी कटाक्ष किया गया‌ । लाकडाउन के समय जनता के बीच उनकी भाषणबाजी की प्रतिक्रिया सामने आई तथा पहले कोतमा के पूर्व विधायक दिलीप जायसवाल ने इसकी शिकायत जिला प्रशासन  को की गयी । वहीं भाजपा नेता तथा भारत विकास परिषद के अनूपपुर अध्यक्ष मनोज द्विवेदी ने भी इसपर अपनी कड़ी आपत्ति दर्ज करवाते हुए सेनेटाईजेशन का कार्य नगरपालिका , पंचायतों के कुशल लोगो से करवाने की मांग की।
    प्राप्त जानकारी के अनुसार कोतमा एसडीएम द्वारा एस ई सी एल जमुना - कोतमा महाप्रबंधक को पत्र क्रमांक १४३ ,दिनांक ८ अप्रैल २०२० के माध्यम से सेनेटाईजर वाहन उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। जिसके पालन मे ९ अप्रैल को एस डी एम कोतमा को यह मशीन प्रदान कर दी गयी। आरोप लगाया गया है कि यह मशीन नगरपालिका को या सी ई ओ जनपद को ना देकर विधायक कोतमा के हवाले कर दिया गया।
सूत्रों के अनुसार मशीन कोतमा विधायक के पास कैसे गयी ,इससे एसडीएम ने अनभिज्ञता जताई है। बहरहाल यह मशीन लेकर विधायक स्वत: क्षेत्र में घूमने लगे।
    पूर्व विधायक दिलीप जायसवाल ने इस पर कड़ी आपत्ति की तथा कलेक्टर चन्द्रमोहन ठाकुर से इसकी शिकायत की । वरिष्ठ पत्रकार मनोज द्विवेदी द्वारा भी पूरा मामला जिला प्रशासन के समझ प्रकाश मे लाया गया।
    जानकारी मिलते ही कलेक्टर श्री ठाकुर मे सेनेटाईजर मशीन वापस लेने बावत  एसडीएम को निर्देश दिये गये हैं।
    दर असल सेनेटाईजेशन का कार्य जनपदों अथवा नगरपालिका के माध्यम से प्रशिक्षित लोगों द्वारा करवाए जाने के स्पष्ट निर्देश हैं। इसके बावजूद लोगों द्वारा अतिउत्साह में स्वयं करने से ना केवल लाकडाउन अपितु आम जनता की सुरक्षा पर भी गंभीर चिंता उठ खडी हुई है। जिला प्रशासन से इस पर समय रहते कदम उठाए जाने की अपेक्षा की गयी है।
 इस पर टिप्पणी करते हुए पूर्व विधायक श्री जायसवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी एवं मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान कोरोना से जनता को बचाने के लिये योजनाबद्ध कार्य कर रहे हैं। जनता को कष्ट ना हो इसके लिये प्रशासन मुस्तैद है। इसके बाद भी मुख्यमंत्री पर ऊंगली उठाना गलत है। जबकि मनोज द्विवेदी ने घटना पर टिप्पणी करते हुए कहा कि अनूपपुर के पूर्व विधायक बिसाहूलाल सिंह ने ना केवल अपने पास से एक लाख रुपये दान दिया बल्कि एक माह का पेंशन देने की भी घोषणा की गयी है । कोतमा तथा पुष्पराजगढ विधायकों से भी यही अपेक्षा है कि आगे बढ कर जनता के लिये स्वयं सहयोग करें, दूसरों के नारियल से भेंट ना करें। क्षेत्र की जनता बडी उम्मीदों से उनकी ओर देख रही है।

Post a Comment

0 Comments