Header Ads Widget

Responsive Advertisement

सांसद शहडोल संसदीय क्षेत्र हिमाद्रि सिंह की पहल पर अनूपपुर ज़िले में प्रारम्भ हुई संरक्षण योजना-वी केयर*

श्रीराम केवट  अनूपपुर  8878567813






15 अप्रैल को होगा शुभारम्भ
योजना के तहत 5000 गरीब एवं बेसहारा परिवारों को दी जाएगी स्वच्छता एवं खाद्य सामग्री
कोरोना संक्रमण से गरीब, बेसहारा वर्ग के लोगों की सुरक्षा हेतु की जा रही है पहल - कलेक्टर
योजना हेतु एसईसीएल एवं समाजसेवियों से प्राप्त हुआ सहयोग

अनूपपुर : अप्रैल 14, 2020

कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव का महत्वपूर्ण आयाम है जागरूकता। इसके साथ ही समस्त निवासियों का ज़िम्मेदार आचरण एवं आवश्यक सामग्रियों की उपलब्धता। सांसद शहडोल संसदीय क्षेत्र हिमाद्रि सिंह ने उक्त विषयों पर संज्ञान लेते हुए ज़िला प्रशासन एवं जागरूक नागरिकों से अनुरोध किया है कि संक्रमण की रोकथाम हेतु अपेक्षित आचरण सोशल डिस्टेंसिंग हेतु सभी जनो को प्रेरित करते रहें। आपने समस्त नागरिकों से घर पर रहने, अत्यंत आवश्यक होने पर ही बाहर निकलने तथा बाहर निकलने पर सोशल डिस्टेंसिंग मानकों की अनुपालना की अपील की है।

श्रीमती सिंह ने इसके साथ ही गरीब बेसहारा परिवारों  का विशेष ध्यान रखने के उद्देश्य से ज़िले में संरक्षण योजना- वी केयर प्रारम्भ करने की पहल की है। योजना के तहत ज़िला प्रशासन द्वारा बेसहारा वर्ग एवं अत्यंत गरीब परिवारों का चयन कर उन्हें स्वच्छता एवं खाद्य सामग्री का किट वितरित किया जाएगा। योजना का शुभारम्भ कल श्रीमती सिंह द्वारा किया जाएगा।

कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर ने बताया कि इस प्रयास के माध्यम से गरीब बेसहारा वर्ग को संरक्षण प्राप्त होगा साथ ही समाज में कोरोना संक्रमण से सुरक्षा हेतु अपेक्षित आचरण एवं सावधानियाँ बरतने की जागरूकता का भी प्रसार होगा। आपने जानकारी दी है कि प्रारम्भिक तौर में सम्पूर्ण ज़िले में 5000 परिवारों को लाभान्वित किया जाएगा। इस हेतु पुष्पराजगढ़ में 2500 किट, जैतहरी में 1200 किट, अनूपपुर में 800 किट एवं कोतमा विकासखंड में 500 किट का वितरण किया जाएगा। आपने यह भी बताया कि योजना के क्रियान्वयन हेतु सांसद हिमाद्रि सिंह की पहल पर एसईसीएल द्वारा 25 लाख रुपए की राशि प्रदान की गयी थी। साथ ही अनूपपुर ज़िले के समाजसेवियों एवं जागरूक नागरिकों द्वारा अनूपपुर आपदा राहत कोष में प्रदान की गयी राशि का प्रयोग इस योजना के क्रियान्वयन हेतु किया जाएगा।

किट में 1 नहाने का साबुन, 1 हाथ धोने का साबुन, 1 किलो डिटर्जेंट, 180 मिली सैनिटाईज़र की बॉटल, 100 ग्राम ब्लीचिंग पाउडर तथा 4 मास्क दिए जाएँगे। इसके साथ ही खाद्य सामग्री में 2 किलो दाल, 2 किलो आलू, 1 किलो प्याज़ एवं 1 लीटर तेल शामिल है। 1 किट की अनुमानित लागत 500 रुपए है।

वितरण हेतु परिवारों के चयन में विधवा एवं महिला मुखिया गरीब परिवार, दिव्यांग गरीब परिवार, बेसहारा, असहाय बृद्ध परिवार, पात्रता पर्ची विहीन गरीब परिवार, भूमिहीन, दिहाडी मजदूर, बैगा परिवार को प्राथमिकता दी जाएगी। उक्त परिवारों के चयन की कार्यवाही ग्राम पंचायत स्तर पर गठित संबंधित हल्का पटवारी, सचिव एवं ग्राम रोजगार सहायक की कमेटी करेगी। समिति को संवेदनशील एवं निष्पक्ष रूप से परिवारों का चयन करने के निर्देश दिए गए हैं।

Post a Comment

0 Comments