Header Ads Widget

Responsive Advertisement

कोरोनो से बचाव हेतु स्व सहायता समूह तैयार कर रहे मास्क

10 दिनों में तैयार किये 12500 मास्क
सामाजिक सरोकारों के प्रति समूहों की सराहनीय भूमिका

अनूपपुर-3 अप्रैल 

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस(कोविड 19) से बचाव हेतु अनूपपुर जिले में मध्यप्रदेश डे राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन अंतर्गत संचालित स्व सहायता समूहों द्वारा सक्रिय भूमिका का निर्वहन किया जा रहा है। जिला प्रशासन द्वारा इस महामारी से बचाव हेतु किये जा रहे विभिन्न प्रयासों के साथ कदम से कदम मिलाकर स्व सहायता समूहों द्वारा इस महामारी के रोकथाम एवं बचाव हेतु जिला कलेक्टर श्री चंद्रमोहन ठाकुर एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री सरोधन सिंह के नेतृत्व एवं मार्गदर्शन में मास्क तैयार कर न सिर्फ विभिन्न विभागों को उपलब्ध कराए जा रहे हैं , बल्कि आम नागरिको को भी मात्र 10 रुपये में उपलब्ध कराए जा रहे हैं।
जिला परियोजना प्रबंधक शशांक प्रताप सिंह द्वारा बताया गया है कि जिले के चारों विकासखंडों, जैतहरी में सिंदुरी, वेंकटनगर  कोतमा में बुढ़ानपुर, खमरोध,पचखुरा, कटकोना, कोतमा, मनमारी, छुलहा अनूपपुर में आमाडाँड, मलगा, बरतराई, जोगीटोला, देवगवां, बदरा, हरद एवं पुष्पराजगढ़ विकासखंड में धीरुटोला, किरगी, मझगवां जैसे 19 ग्रामों में 21 स्व सहायता समूहों की 48 महिलाओं द्वारा विगत 10 दिनों में 12 हजार 500 मास्क तैयार कर उपलब्ध कराए गए हैं ताकि आमजन इस महामारी के कुप्रभाव से सुरक्षित रह सकें।
स्व सहायता समूहों द्वारा अभी तक स्वास्थ्य, राजस्व , पंचायत एवं ग्रामीण विकस, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकीय, पुलिस एवं यातायात विभाग एवं आम नागरिकों को मास्क तैयार कर उपलब्ध कराए हैं ।
मास्क निर्माण में स्व सहायता समूहों को सतत मार्गदर्शन जिला प्रबंधक श्री दशरथ झारिया एवं ब्लॉक टीम सदस्य श्री धर्मेंद्र गुप्ता, श्री रजनीश सिंह, श्री तारिक मलिक, श्रीमती सीमा पटेल , श्री रामपाल पांडेय एवं श्री दुर्गेश दाहिया द्वारा प्रदान किया जा रहा है।
निःसंदेह आजीविका मिशन अंतर्गत स्व सहायता समूहों की सक्रिय सदस्यों द्वारा इस कठिन घड़ी में न सिर्फ सामाजिक सरोकारों के प्रति अपने दायित्वों का लगन एवं निष्ठा पूर्वक निर्वहन किया जा रहा है, बल्कि समाज के सबसे वंचित एवं पिछड़े सामाजिक वर्ग की इन महिलाओं द्वारा समाज के प्रत्येक वर्ग के जीवन की रक्षा के लिए चुनौतीपूर्ण सकारात्मक सोच के साथ जो प्रयास किये जा रहे हैं वह अनुकरणीय है।

Post a Comment

0 Comments