Header Ads Widget

Responsive Advertisement

पत्रकार आर्नब गोस्वामी पर हमला लोकतंत्र को कमजोर करने की साजिश-- मनोज द्विवेदी

अनूपपुर -23 अप्रैल
रिपब्लिक भारत के वरिष्ठ पत्रकार पर समाचार प्रसारण के बाद हमला अत्यंत दुखद एवं निन्दनीय है। इसकी जितनी भर्त्सना की जाए वो कम है। पत्रकार आर्नव गोस्वामी पर हमले की सख्त निंदा करते हुए जिले के वरिष्ठ पत्रकार तथा जय भारत मंच के जिलाध्यक्ष मनोज द्विवेदी ने सरकार से मांग की है कि मामले की जांच करवा कर दोषियों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही करें।
 पालघर हमले में दो साधुओं सहित तीन की नृशंस हत्या के बाद राष्ट्रीय कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमती सोनिया गांधी की चुप्पी पर सवाल उठाते हुए आर्नव गोस्वामी ने कुछ तल्ख टिप्पणियां कीं। यह कांग्रेस तथा उसके समर्थक अन्य दलों को बुरा लगा। छत्तीसगढ़ में उनके एक मंत्री की शिकायत पर आनन फानन मुकदमा पंजीबद्ध कर लिया गया।
यह भारतीय लोकतंत्र में मीडिया के प्रति कांग्रेसी असहिष्णुता की परिचायक है। इसी कांग्रेसी राज में मप्र मे पिछले १८ महीने मे छोटे - मझोले अखबारों, वेब पोर्टलों को समाप्त करने का पूरा यत्न किया गया । अब कुछ गुण्डों द्वारा आर्नब गोस्वामी तथा उनकी पत्नी पर हमला किया गया। यह कांग्रेस की हिंसक, असहिष्णु प्रवृत्ति को दर्शाता है। श्री द्विवेदी ने एक पत्रकार पर समाचार प्रकाशन/ प्रसारण उपरान्त उसके अभिव्यक्ति के अधिकारों को कुचलने की कांग्रेसी कोशिशों को उसकी हताशा का परिचायक बतलाते हुए सख्त निंदा की है। उन्होने कहा कि पत्रकार पर हमले की हम भर्त्सना करते हैं। किसी भी पत्रकार पर हमला करना बहुत दुर्भाग्यपूर्ण एवं  निदंनीय है। ये स्वस्थ लोकतंत्र का परिचायक नहीं है। पुलिस  को इस पर कडी कार्रवाई करनी चाहिए ।

Post a Comment

0 Comments