Header Ads Widget

Responsive Advertisement

रक्षा उत्पादन में आत्मनिर्भरता मोदी सरकार की बड़ी उपलब्धि - मनोज द्विवेदी

 अमरकंटक, राजेन्द्रग्राम में प्रशिक्षण शिविर संपन्न

अनूपपुर /28 दिसम्बर 2020



 2014 में देश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार बनने के बाद से रक्षा उत्पादन में आत्म निर्भरता की ओर कदम बढाए गये। वस्तुतः यह भारत का स्वावलंबन की दिशा में मजबूत कदम है। देश की सुरक्षा के लिये हमें करोड़ों डालर विदेशी मुद्रा खर्च करके प्रतिवर्ष रक्षा उत्पाद विदेशों से आयात करना होता था। जिसके कारण विदेशी मुद्रा का बड़ा हिस्सा इसमें व्यय करना पड़ता था। प्रधानमंत्री मोदी की सरकार ने देश की विदेशों पर इस निर्भरता को कम करने के लिये मेड इन इंडिया का जो नारा दिया ,उसका अभिप्राय मेड बाई इंडिया से है। रविवार , 27 दिसम्बर को अमरकंटक एवं राजेन्द्रग्राम मंडल में भाजपा कार्यकर्ताओं के प्रशिक्षण शिविर को संबोधित करते हुए भाजपा नेता एवं नमो एप के संभागीय संयोजक मनोज द्विवेदी ने उपरोक्त विचार व्यक्त किये। 



   भारतीय जनता पार्टी के केन्द्रीय नेताओं के नेतृत्व में तथा प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा, प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत, प्रदेश सह संगठन महामंत्री हितानंद शर्मा, संभागीय संगठन मंत्री श्याम महाजन के कुशल मार्गदर्शन में शहडोल संभाग के सभी मंडलों में दो दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया है। 

 अमरकंटक एवं राजेन्द्रग्राम में आयोजित कार्यकर्ता प्रशिक्षण शिविर में 27 दिसम्बर , रविवार को आत्म निर्भरता एवं राष्ट्रीय सुरक्षा विषय पर कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण प्रदान करते हुए जिले के वरिष्ठ भाजपा नेता मनोज द्विवेदी ने बतलाया कि जनसंघ की स्थापना से ही हम आत्मनिर्भरता तथा स्वदेशी पर जोर दे रहे हैं। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक होने के कारण स्वदेशी हमारा मूल सिद्धांत रहा है। जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय सुरक्षा उत्पादन में आत्मनिर्भरता को दृढता से गति प्रदान की है। पिछले सात दशकों में देश ने खाद्य उत्पादन, दुग्ध उत्पादन, सब्जी उत्पादन, नाभिकीय तकनीकी, उर्जा, सूचना प्रौद्योगिकी, बुनियादी ढांचा विकास, औषधि निर्माण, वैज्ञानिक कार्यबल तथा तकनीकी जानकारियों में आत्मनिर्भरता प्राप्त की है। 

प्रधानमंत्री मोदी ने रक्षा उत्पादन के क्षेत्र में आत्मनिर्भरता प्राप्त करने के लिये विदेशों से हथियार तथा रक्षा साजो सामान का आयात प्रतिशत कम करने को प्राथमिकता देते हुए रक्षा क्षेत्र मेंं विदेशी निवेश की अनुमति प्रदान की। अभी भारत रक्षा उत्पाद का 80 प्रतिशत विदेशों से आयात कर रहा है। जिसमें अरबों डॉलर विदेशी मुद्रा की जरुरत होती है। प्रधानमंत्री ने भारत को प्रमुख रक्षा उपकरण विनिर्माण केन्द्र बनाने के साथ रक्षा क्षेत्र में निजी निवेश की अनुमति प्रदान की है। भारत ने देश को रक्षा उत्पादन का हब बनाने तथा 2025 तक 1.70 लाख करोड़ रुपये का कारोबार हासिल करने का लक्ष्य रखा है।

श्री द्विवेदी ने कार्यकर्ताओं को बताया कि आत्मनिर्भर भारत संघ के स्वदेशी दर्शन की लंबे समय से लंबित मांग की पूर्णता की दिशा में महत्वपूर्ण कदम है। यहाँ आत्मनिर्भर भारत से मतलब स्वावलंबी भारत से है।इसके माध्यम से भारत को वैश्विक अर्थव्यवस्था का महत्वपूर्ण घटक बनाने की दिशा में कार्य किया जा रहा है। हम दक्षता, इक्विटी तथा लचीलेपन के साथ आगे बढ रहे हैं। आत्मनिर्भर भारत के तहत वोकल फार लोकल, लोकल फार ग्लोबल और मेक फार द वर्ल्ड जैसी रणनीति पर कार्य किया जा रहा है। यह विश्व परिदृश्य में तेजी से बदलते, मजबूत भारत की स्वर्णिम छवि है‌ । जिसमें आतंकवाद तथा विस्तारवाद के विरुद्ध अधिक आक्रामकता तथा मजबूती दिखला कर दुश्मन देशों को कडा संदेश दिया है।

अमरकंटक प्रशिक्षण वर्ग में कार्यक्रम की अध्यक्षता उत्तम महाराज जी ने तथा राजेन्द्रग्राम शिविर में पूर्व जनपद अध्यक्ष एवं भाजपा नेत्री श्रीमती इंद्राणी सिंह ने किया। इस अवसर पर नरेन्द्र मरावी, नगर पंचायत अध्यक्ष श्रीमती प्रभा पनाडिया, रामगोपाल द्विवेदी, अंबिका तिवारी,अरुण चौकसे,श्रीमती अंजना कटारे, बबिता सिंह, वंदना मिश्रा, रमेश करायत,,मंडल अध्यक्ष रोशन पनाडिया, कन्ना नायक, विनोद बनाफर, संदीप उपाध्याय, विक्की द्विवेदी, समीर मानिकपुरी,प्रकाश द्विवेदी, राजेंद्र ग्राम मंडल के अध्यक्ष प्रमोद मरावी, चेतन अग्रवाल, मुन्ना लाल गुप्ता, बालकृष्ण शुक्ला , राजेंद्र चतुर्वेदी, बृज मोहन चंद्रवंशी, ललित सिंह, शशांक शेखर, धर्मेंद्र जायसवाल, मीडिया प्रभारी गजेन्द्र रजक, शरद द्विवेदी, जय हिंद दुबे ,जागेश्वर चंद्रवंशी, प्रभाकर जायसवाल, आलोक गुप्ता, विपिन मलैया, लोक सिंह, रोशन हलवाई, श्रीमती मिथिलेश सिंह, राम प्रभाव गोयल, मिथिलेश पाठक ,राजेश चंद्रवंशी, मिथिलेश नायक, भगवान दास ,गुलाब सिंह ,महिपाल सिंह, आनंद किशोर, नीरज के साथ सैकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

Post a Comment

0 Comments