Header Ads Widget

Responsive Advertisement

बिना स्वीकृति के ही जेसीबी से गहरे गड्ढे की सड़क बनाकर हो रही रेत की निकासी, मामला कोलमी के छुलकारी सोन नदी संगम के पास मुक्तिधाम का

अनूपपुर -21 दिसम्बर 2020

   दीप कुमार 

  ✍️✍️✍️

वह मार्ग जो मुक्तिधाम की ओर जाता है

सड़क के ऊपर स्थित मुक्तिधाम 


तहसील अनूपपुर अंतर्गत कोल्मी के छुलकारी सोन नदी संगम के पास मुक्तिधाम की सड़क को खोदकर रेत की निकासी हो रही हैं। वही रेत उत्खनन से बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं मुक्तिधाम के आसपास बड़ी और गहरे गड्ढे हो जाने से मुक्तिधाम की दीवाल ढह जाने की स्थिति में  एवं आशंका बढ़ गई है वर्तमान में रेत कारोबारियों ने मुक्तिधाम के गेट के सामने 7 से 10 फीट के गड्ढे खोद रखे हैं| जिस वजह से ग्रामीणों को अंत्येष्टि के लिए शव ले जाने में व्यवधान उत्पन्न हो रहा है उल्लेखनीय है कि प्रशासन की सख्ती के बाद भी रेत माफियाओं ने बेपरवाह होकर उत्खनन में जुटे हैं माफिया इस कदर हावी है कि वह चाहे खेत हो या फिर मुक्तिधाम जहां भी रेत निकलने की संभावना  दिखती है| बेखौफ होकर खनन करने में जुटे हैं रेत माफिया ग्राम पंचायत कोलमी सोन नदी संगम मुक्तिधाम तथा सोन मौहरी घाट को निशाने पर ले लिए हैं रात के अंधेरे में व सुबह तड़के तक जोर शोर से उत्खनन का काम किया जा रहा है।

कोलमी छुलकारी से मुक्तिधाम तक सड़क निर्माण को जेसीबी से खुदवा दी गई है 7 से 10 फीट गहरे गड्ढे हो गए हैं ग्रामवासियों को अपने परिजनों का अंतिम संस्कार करने के लिए ले जाने में  परेशानियों का  सामना करना पड़ रहा है, हिंदू धर्म में यह मान्यता है है कि सभी को मृत्यु के बाद अंतिम संस्कार के लिए मुक्तिधाम जाना है लेकिन रेत माफियाओं को इसकी परवाह नहीं है।

कुछ ही साल पहले हुआ था मुक्तिधाम का निर्माण


 बताया जाता है कि पंचायत द्वारा मनरेगा निधि से 14 लाख 94 हजार खर्च कर  ग्राम पंचायत बीते साल ही सोन नदी संगम के पास पंचायत द्वारा मुक्तिधाम का निर्माण कराया गया था ताकि ग्रामीणों को अंतिम संस्कार के लिए परेशानी नहीं होना पड़े लेकिन रेत माफियाओं ने लोगों की परेशानी थी परवाह नहीं करते हुए मुक्तिधाम के सड़क को खुदवा कर रोड को गड्ढे में तब्दील कर दिए हैं। रात के अंधेरे में  दर्जनों ट्रैक्टर अवैध उत्खनन  करते देखे जा रहे हैं । वहीं स्थानीय लोगों का कहना है कि रोजाना कई ट्रैक्टर  ट्राली भरकर रेत का आवागमन किया जा रहा है अवैध उत्खनन  से रेत माफिया अपने निजी तिजोरी भर रहे हैं वहीं  शासन को लाखों रुपए के राजस्व का नुक़सान हो रहा है|


            

  



 स्थानीय निवासियों द्वारा यह बताया गया कि रात के अंधेरे में रेत का अवैध उत्खनन के  लिए मुक्तिधाम गेट के सामने सड़क को जेसीबी से खोदवाकर ट्रैक्टर नदी में ले जाने के लिए रास्ता बनाया गया है इसकी जानकारी मुझे पहले से नहीं थी - श्रीमती अनीता देवी पनिका सरपंच ग्राम पंचायत कोलमी

ग्राम पंचायत कोलमी सोन नदी मुक्तिधाम के पास रेत खदान की स्वीकृति नहीं हुई है संज्ञान में आया है जांच करवा कर विधि संगत कार्रवाई की जाएगी - राहुल शांडिल्य निरीक्षक खनिज विभाग अनूपपुर


Post a Comment

0 Comments