Header Ads Widget

Responsive Advertisement

खबर का असर -शिव लहरा धाम में मेला के बाद फैली गंदगी की खबर से नगर के युवाओं ने नगर पालिका सफाई कर्मचारियों के साथ मिलकर की सफ़ाई

 सुरेश शर्मा

भालूमाड़ा-16 मार्च 2021


महाशिवरात्रि के पर्व पर दार सागर ग्राम पंचायत के अंतर्गत केवई नदी के तट पर शिव लहरा घाट में दो दिवसीय मेले का भव्य आयोजन हुआ था मेले के बाद मंदिर परिसर एवं मेला परिसर में भारी गंदगी का अंबार लगा था जगह-जगह कचरे के ढेर पन्नीयों के ढेर जूठे पत्तल डिस्पोजल चारों तरफ बिखरे पड़े थे ।

मेला में प्रतिबंधित पन्नी डिस्पोजल का  खुलकर किया गया उपयोग - शासन द्वारा पन्नी डिस्पोजल सिंगल यूज प्लास्टिक पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाया गया है लेकिन शिव लेहरा मेला में इस प्रतिबंध का कोई नजर नहीं आया ऐसा लगा यहां मेला नहीं बल्कि दुकान के नाम पर लोगों को खुली छूट दी गई है ना तो शासन के अधिकारी ना जा रहा है और ना शासन के नियम यही कारण था कि मेले में प्रतिबंधित पन्नी डिस्पोजल का अंबार लगा हुआ था जिन्हें साफ करने वाला कोई नहीं था ग्राम पंचायत दार सागर के जिम्मेदार भी मेला परिसर में नजर नहीं आए वही मेला प्रबंधन का भी कोई पता नहीं रहा और शासन प्रशासन को तो जैसे कुछ होश ही नहीं कागजों में चलने वाले स्वच्छ भारत अभियान का नजारा यहां देखने लायक था।


  वही यह बात भी सत्य है कि स्वच्छ भारत अभियान का असर आज के युवाओं समाजसेवियों  को कुछ करने की प्रेरणा देता है इसी प्रेरणा से मेला समापन के तीसरे दिन शासकीय महाराजा मार्तंड महाविद्यालय के प्राचार्य व छात्रों ने अपना श्रमदान करते हुए मंदिर परिसर की साफ सफाई की वही नगर के पत्रकार समाजसेवी सुरेश शर्मा जो पिछले लगभग चार-पांच वर्षों से प्रतिवर्ष शिव लहरा मेला में अव्यवस्थाओं वहां की सुविधाओं और मेला के बाद सफाई ना होने की खबरों को प्राथमिकता से शासन प्रशासन तक पहुंचाते आए हैं उन्होंने भी मेला परिसर में पहुंचकर जायजा लिया जहां पर कॉलेज के प्रोफेसर छात्र कुछ समाज सेवी संस्थाएं सीमित संसाधन होते हुए भी पहले तो मंदिर परिसर की साफ सफाई की वही स्वच्छता के लिए पंचायत से लेकर जनपद के सीईओ तक को फोन लगाया गया लेकिन किसी ने फोन उठाना उचित नहीं समझा तब जाकर पसान नगरपालिका के सीएमओ रामसेवक हलवाई जी से मेला में फैली गंदगी पर बात की गई जिस पर उन्होंने स्वच्छता के लिए पालिका द्वारा कुछ सामग्री भिजवाए और आश्वासन दिए कि पूरे मेला परिसर की साफ-सफाई नगर पालिका के द्वारा कराई जाएगी और उनके आदेश पर दूसरे दिन ही नगर पालिका से लगभग 15 महिला सफाई कर्मचारियों ने जाकर वहां साफ सफाई की लेकिन इतने बड़े परिसर को साफ करना आसान नहीं था इस संबंध में लगातार समाचार का प्रकाशन किया जा रहा था समाचार प्रकाशन के बाद पसान नगर के  कुछ युवा साथियों ने भी अपना  सहयोग देने का मन बनाया  और 15 मार्च सोमवार को जब पुनः पसान नगर पालिका के सफाई कर्मचारी मेला स्थल में सफाई के लिए पहुंचे उसी समय नगर के समाजसेवी अजय द्विवेदी वार्ड क्रमांक 18 के पार्षद इन लाल केवट वार्ड नंबर 6 के पार्षद बद्री केवट शारदा द्विवेदी रंजीत नामदेव धीरज पटेल रवि नामदेव शिवम यादव नगर पालिका के सफाई प्रभारी जयराम ,मनोज मिश्रा ,रवी दहिया, मोती लालपुरी सहित लगभग 15 महिला  सफाई कर्मचारियों के साथ मिलकर चौथे दिन भी परिसर की साफ सफाई करते हुए जगह-जगह पन्नी दोने पत्तल डिस्पोजल को बीन कर साफ किया गया। 


 मेला में नेतागिरी के प्रचार में कुछ लोगों ने फैलाई गंदगी - शिव लहरा में लगने वाले मेला में सबसे ज्यादा पसान नगर पालिका क्षेत्र के लोगों का आगमन होता है और इस वर्ष के अंत में नगर पालिका का चुनाव भी होना है जिसके लिए अनेक लोग अध्यक्ष की दौड़ में शामिल है और वह अपने अपने हिसाब से प्रचार-प्रसार भी कर रहे हैं और इसी चुनावी प्रचार का नमूना शिव लहरा धाम में देखने को मिला जहां पर कुछ पार्टी के नेताओं द्वारा मेला परिसर में भंडारे का आयोजन तो किया गया लेकिन भंडारा समाप्त होने के बाद मेला परिसर में झूठे पत्तल झूठे दोने डिस्पोजल सारा कचरा वहीं फेंककर अपने अपने घर को रवाना हो गए उसके बाद उन्हें यह भी नहीं लगा कि सारा कचरा मंदिर परिसर में पड़ा हुआ है जिससे गंदगी लेकिन उनका क्या उन्होंने तो दिखावा किया कि फला नेता ने मेला में भंडारे का आयोजन किया लेकिन उस आयोजन से जो गंदगी फैली उसका उन्हें जरा सा भी ध्यान नहीं रहा।

      सफाई के दौरान मिले पर्स - मेला परिसर में नगर पालिका के महिला कर्मचारी जब परिषद के बाहर झाड़ू लगा रहे थे तब उन्हें झाड़ियों के बीच 4 पर्स मिले जिनमें पैसे तो नहीं थे लेकिन जिनके पर्स थे उनमें उनके आधार कार्ड वोटर आईडी बैंक एटीएम कार्ड ड्राइविंग लाइसेंस जैसे महत्वपूर्ण कागजात थे ऐसा लगता है कि मेला में कोई जेबकतरा गैंग सक्रिय रहा और यह लोग पर्स चुराकर पैसे निकालकर पर्स को झाड़ियों में फेंक गए सफाई कर्मचारियों को मिले पर्स को नगर पालिका कार्यालय में जमा कराते हुए भालूमाडॉ पुलिस थाने में दिया गया है और जिन लोगों के आधार कार्ड एटीएम वोटर आईडी प्राप्त हुए हैं उनमें ओमप्रकाश सिंह माता यशोदा ,राजेश सिंह गौड़ ,हीराबाई और सुशील तिवारी का एटीएम कार्ड शामिल हैं।

Post a Comment

0 Comments