Header Ads Widget

Responsive Advertisement

गोंड़वाना स्वजातीय समूहिक विवाह में गोंड़ी रीति रिवाज से सात जोड़ों का रचाया गया विवाह

अनूपपुर ।



 गोंडी धर्म संस्कृति संरक्षण समिति एवं युवा प्रभाग के संयुक्त तत्वाधान में गोंडवाना स्वजातीय सामूहिक विवाह का आयोजन जैतहरीे जनपद के बड़ा देव ठाना खूंटा टोला धाम में आयोजित हुआ। इस मौके पर सात जोड़ों का विवाह गोंडी रीती से संपन्न कराया गया।ग्राम खूंटाटोला में आयोजित इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि गुरु माता दुर्गे दुलेश्वरी जगत अध्यक्ष जनपद पंचायत पाली कोरबा थीं। इसी तरह प्रेम सिंह श्याम प्रदेश अध्यक्ष गोंडवाना धर्म संस्कृति संरक्षण समिति,जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती प्रीति सिंह, मध्यप्रदेश कोल विकास प्राधिकरण कैबिनेट मंत्री दर्जा एवं पूर्व विधायक अनूपपुर रामलाल रौतेल,अध्यक्ष जनपद पंचायत जैतहरी राजीव सिंह,सेवानिवृत्त जिला शिक्षा अधिकारी नवल सिंह उर्वेती रहे।बताया गया बुधवार को चुल माटी, तेल माय की रस्म निभाई गई इसके बाद गुरुवार को टिकावन,बंदावन रीति रिवाज के साथ चिन्हित जोड़ों का विवाह कराया गया।विवाह की सभी रस्में पंडा पुजारी थानेश्वर सिंह धुर्वे द्वारा कराई गई।गोंडवाना स्वजातीय सामूहिक विवाह का आयोजन पहली बार अनूपपुर जिले में हुआ। इस मौके पर सांस्कृतिक कर्मा नर्तक दल द्वारा प्रस्तुति दी गई।

विवाह समारोह में छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश के विभिन्न जिलों सहित शहडोल संभाग के गोंडवाना समाज के पदाधिकारी और कार्यकर्ता बड़ी संख्या में मौजूद रहे। कार्यक्रम में मुख्य बात यह भी रहेगी इस दौरान नशा के खिलाफ पुरजोर विरोध भी हुआ और लोगों को नसीहत भी दी गई थी कि कार्यक्रम में कोई भी इस अवस्था में मौजूद नहीं रहेगा। आयोजन को सफलतापूर्वक कराने में लक्ष्मन मरकाम,चन्द्रभान नेताम,दिलीप सिंह सैयाम,महेन्द्र नेताम, राजभान सिंह परस्ते, हरी सिंह मरकाम, गंगा सिंह नेटी, संजय मरकाम, आर सी गज्जाम झुन्नीलाल सैयाम, भूपेन्द्र वरकडे, देवा मरावी, मुन्ना मरावी,अशोक सरौते,धीरा मरावी,संतोष मसराम,गनाराम पन्द्रे ने योगदान दिया।

Post a Comment

0 Comments