Header Ads Widget

Responsive Advertisement

जर्जर स्कूल भवन में पढ़ने को मजबूर छात्र, कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा, अधिकारी नहीं दे रहे ध्यान, नए भवन की तलास में विद्यालय

अनूपपुर - ( दिगम्बर शर्मा)

अनूपपुर जिले के कई ऐसे विद्यालय हैं जो वर्षों पहले निर्मित हुए थे किंतु आज उनकी हालत जर्जर से भी जर्जर हो चुकी हैं शिक्षा विभाग द्वारा कई विद्यालयों का अब तक मरम्मत अथवा नवीन भवन का निर्माण  हुआ किंतु आज भी कई ऐसे विद्यालय हैं जो जर्जर स्थिति में है ऐसा ही मामला अनूपपुर जिले के ग्राम हरद का है।

विद्यालय की खस्ता हालत होने के बाद भी शिक्षा विभाग के अधिकारियों द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। वहीं विद्यालय प्रभारी द्वारा पूर्व में इसकी जानकारी जिम्मेदार अधिकारियों को दी थी, उसके बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई। 



 जिले के  विकासखंड अनूपपुर के ग्राम पंचायत हरद स्थित शासकीय पूर्व प्राथमिक शाला की हालत काफी खस्ताहाल हो चुकी है। यहां बने कमरों की छत और दीवारें पूरी तरह से जर्जर है, भवन कि छत और दीवारों में जगह-जगह दरारें नजर आ रही हैं। भवन कब गिर जाए कुछ कहा नहीं जा सकता। उसके बाद भी जर्जर भवन की कक्षाओं में बच्चों को पढ़ाया जा रहा है। शिक्षा विभाग द्वारा मासूम बच्चों की जिंदगी के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। 


बताया जा रहा है कि विद्यालय की ऐसी खस्ता हालत होने के बाद भी शिक्षा विभाग के अधिकारियों द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। वहीं विद्यालय प्रभारी ने पूर्व में इसकी जानकारी जिम्मेदार अधिकारियों को दी थी, उसके बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई। 

जर्जर भवन की हालत देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि यह भवन पूरी तरह से खंडर हो चुका है। जो कि किसी के लिए भी सुरक्षित नहीं है उसके बाद भी यहां बच्चों को पढ़ाया जा रहा है। जिससे कभी भी कोई भी अप्रिय घटना घटित हो सकती है लेकिन संबंधित विभाग के अधिकारी इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं।

Post a Comment

0 Comments