Header Ads Widget

Responsive Advertisement

जेएमएस माइनिंग प्राइवेट लिमिटेड कोयला कंपनी के खदान खोलने से ग्रामीणों में हर्ष

ग्रामीणों ने कहा मिल रहा नियमानुसार रोजगार व मूलभूत सुविधाएं

जमुना/कोतमा 



अनूपपुर जिले को कोयलांचल नगरी के नाम से जाना जाता है और इस जिले में प्रचुर मात्रा में खनिज संपदा मौजूद है और कोल इंडिया द्वारा इस जिले में कई कोयला खदानें संचालित की जा रही हैं जोकि देश को ऊर्जा प्रदान करने में मेरुदंड की भूमिका निभा रही है और साथ में कोयला खदानों में काम करने वाले कामगारों की वजह से उनसे साथ-साथ अन्य लोगों का भी रोजगार बड़ा है इसी कड़ी में कोतमा क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम बसखला बसखली मोहरी टोडहा गांव मैसर्स जेएमएस माइनिंग प्राइवेट लिमिटेड द्वारा कोयला खदान खोलने का काम किया जा रहा है इस संबंध में जब हमारे संवाददाता ने वहां गांव जाकर स्थिति का जायजा लिया तो इस कोयला खदान के खुलने से ग्रामीणों में काफी हर्ष और खुशी का माहौल देखा गया और उन्होंने कहा कि कोयला खदान खुलने से रोजगार बिजली पानी सड़क आवास व अन्य मूलभूत सुविधाएं हम ग्रामीणों को प्राप्त होंगी इसलिए जल्द से जल्द कोयला खदान को प्रारंभ किया जाए और हम लोगों को रोजगार व नियमानुसार जो भी हमारा हक बनता है वह हमें दिया जाए वहीं पर कुछ लोग निजी स्वार्थ के लिए इसका विरोध कर रहे हैं

गांव के ही धरमदास ने कहा कि यह क्षेत्र आदिवासी बहुल क्षेत्र में आता है यहां का विकास अवरुद्ध पड़ा हुआ है लेकिन जो जेएमएस कंपनी यहां खदान खोलने जा रही है उससे हम 4 गांव के लोगों को रोजगार का अवसर मिलेगा बिजली पानी सड़क आदि मूलभूत सुविधाएं मिलेंगी हम चाहते हैं कि जल्द से जल्द कोयला खदान खुले और हमारे गांव का कल्याण हो हमारा पूरा गांव सहमत है और मेरा खुद का 2 एकड़ जमीन फंसा हुआ है और मुझे जॉइनिंग लेटर ही मिल गया है कुल 525 नौकरियां स्थाई कंपनी दिया जाएगा और 475 हेक्टेयर भूमि अधिग्रहण किया गया है और दैनिक वेतन भोगी की जो मजदूर काम करेंगे वह भी अधिकांशतः स्थानीय ही 4 गांव के लोग रहेंगे और अभी वर्तमान में खदान खोलने से पहले 40 लोगों को नियुक्ति पत्र दे दिया गया है और 12 लोगों का प्रोसेस में है और कुछ भूमि अधिग्रहण गुप्ता समाज के लोगों का होने वाला है और कुछ लोग निजी स्वार्थ के लिए विरोध कर रहे हैं जो कि अपने निजी स्वार्थ के लिए गरीब हरिजन आदिवासियों को भड़का रहे हैं जो उचित नहीं है प्रशासन उसकी निष्पक्ष जांच कर उन पर कार्यवाही करें बसखला निवासी सुरेश साहू ने कहा कि हमारे यहां कोयला खदान खोला जा रहा है हमें बहुत खुशी है और हमें नौकरी मिल रही है हम काफी खुश हैं गांव के ही रवि कांत साहू ने कहा कि हमारे गांव में खदान खुल रही है हम बहुत खुश हैं हमें अच्छा लग रहा है और हमें 1 अगस्त को जोइनिंग देने के लिए भी कहा गया है कोयला खदान खोलने से गांव का चौतरफा विकास होगा गांव के ही दिनेश कुमार गुप्ता ने कहा कि कंपनी कोयला खदान खोले अच्छी बात है लेकिन सबसे पहले हम सभी लोगों को शिक्षा रोजगार बिजली पानी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराएं और मेरी भी जमीन फंसी है और मेरा प्रोसेस चल रहा है जल्दी मुझे भी नौकरी मिल जाएगी मैं चाहता हूं कि खदान खोलें मैं से काफी प्रसन्न हूं इस दौरान सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण जन मौजूद रहकर एक स्वर में जल्द से जल्द कोयला खदान खोले जाने की बात कही अभी तक कोयले का उत्पादन प्रारंभ होने पर ही नौकरी देने का प्रावधान था लेकिन कंपनी के द्वारा उदारवादी नीति अपनाते हुए एवं मानवतावादी दृष्टिकोण से उत्पादन के पूर्व ही नौकरी देने का कार्य प्रारंभ कर दिया गया है।

Post a Comment

0 Comments