Header Ads Widget

Responsive Advertisement

दो दिवसीय गोंडवाना स्वजातीय सामूहिक विवाह संपन्न

अनूपपुर। 



गोंडवाना स्वजातीय सामूहिक विवाह द्वितीय वर्ष का आयोजन मप्र और छग सीमावर्ती ग्राम खुटाटोला के बड़ादेव शक्तिपीठ ठाना अनूपपुर में गोंडवाना गुरूदेव परम श्रद्धेय दुर्गेभगत जगत सिदार जी एवं करूणामयी माता दुर्गे दुलेश्वरी दाई के आशीर्वाद एवं सानिध्य में गौडी धर्म संस्कृति सरंक्षण समिति मध्यप्रदेश के तत्वाधान में 22 मई दिन बुधवार बैषाख उजियारी पक्ष 14 को चुलमाटी, तेल, मंडप एवं 23 मई 2024 दिन गुरुवार बैषाख पूर्णिमा को चिकट, बारात प्रस्थान, टीकावन बंदावन का कार्यक्रम विधि विधान से कराया गया।

गोंडी धर्म संस्कृति संरक्षण समिति नें बताया कि गोंडी संस्कृति विश्व संस्कृति की जननी व्यक्ति से परिवार और परिवार से समाज का निर्माण होता है, और हर समाज की अपनी रीति-नीति परम्परा और संस्कृति ही समाज की पहचान होती है। धर्म पिता तुल्य, भाषा माता तुल्य के साथ संस्कृति और कला गोंड समाज की विशेष पहचान है, इसी गोंडी धर्म संस्कृति को अक्षुण्य बनायें रखने तथा भय और भ्रम को मिटाने एवं नेंग जोंग रूढ़ी प्रथा परम्परा को संरक्षित करने गोंडवाना समाज ने गोंडवाना स्वजातीय सामूहिक विवाह द्वितीय वर्ष का आयोजन मप्र और छग सीमावर्ती ग्राम खूटाटोला में सफलता पूर्वक संपन्न हुआ। गोंडवाना स्वजातीय सामूहिक विवाह कार्यक्रम में एमपी एवम सीजी से हजारों की संख्या में समाज के लोगों की उपस्थिति रही, जिसमें विशिष्ट अतिथि गंगा सिंह नेटी ,कोषाध्यक्ष गोंडी धर्म संस्कृति संरक्षण समिति मध्यप्रदेश, सिया मंडावी प्रांतीय संरक्षक, चंद्रभान नेताम , प्रीतम  प्रांतीय महासचिव, गौकरण कुंजाम, कोषाध्यक्ष, अश्वनी छेदैहा, प्रांत सचिव,मनोज मंडावी प्रांत संरक्षक, प्रेम सिंह श्याम, संजय सिंह,हरी सिंह, रामलल्लू सिंह मेटी, पप्पू श्याम, चित्रभान कोरचो,राकेश मरकाम,प्रकाश नेताम सहित अन्य मौजूद रहे।

Post a Comment

0 Comments